achi aadat kaise bnaye

अच्छी आदत कैसे बनाएं ?/ How to make a good habits ?

Spread the love

अच्छी आदत कैसे बनाएं ?/ How to make a good habits ?

नमस्कार दोस्तों। जैसा कि हम सभी जानते हैं कि यदि हमें जीवन में बड़ी सफलता हासिल करना है तो उसके लिए हमें कड़ी मेहनत करनी पड़ती है और इस मेहनत से हम कोई भी कंप्रोमाइज नहीं कर सकते हम यह भी जानते हैं यदि हमें जीवन में कुछ बड़ा करना है तो उसके लिए बड़ा रिस्क भी लेना पड़ता है.

achi aadat kaise bnaye ?
Good Habits

हमें यह भी पता है कि हम जो चीज कर रहे हैं वह क्यों कर रहे हैं लेकिन फिर वह कौन सी ऐसी चीज है जो हमें सफलता से पीछे खींचती रहती है कि हमने कभी इसके बारे में विचार किया है अगर किया है तो उसका पूर्ण रूप से हमें उत्तर भी नहीं मिला आखिर ऐसा क्यों होता है।

दोस्तों हम सभी जानते हैं कि हमारे जीवन में कौन सी चीजें बुरी है और कौन सी चीजें अच्छी और जो अच्छाइयों को अपना लेता है उसकी जीत हो जाती है और जो बुरी आदतों में फस जाता है वह हार जाता है आखिर प्रश्न आता है वह कौन सी आते हैं जिनका हमें निर्माण करना है और यदि करना है तो किस तरह सभी के मन में यह प्रश्न आता है अच्छी आदत कैसे बनाएं बुरी आदत कैसे छोड़े यहां पर मैं आपको बताना चाहूंगा अच्छी और बुरी आदतें यह दोनों आपके भीतर ही होती है बस कुछ लोग अच्छाइयों को अपना लेते हैं बुराइयों का त्याग कर देते हैं और कुछ लोग बुराइयों को अपनी अच्छाइयों का त्याग कर देते हैं.

हम यह नहीं कह सकते कि यह बुरी आदतें किसी ने हमको दे दी है और और अच्छी आदतें हमसे किसी ने ले ली हैं ऐसा कुछ भी नहीं होता यह सब आपके बुद्धिमत्ता पर निर्भर करता है कि आप सही और गलत में फर्क जानते हैं या नहीं।

अच्छी आदत कैसे बनाएं ?

यदि मैं आप लोगों से कहूं कि आप अच्छी आदतों को अपना लें और बुरी आदतों का त्याग कर दें तो आप एकदम सफल बन जाएंगे। तो क्या आप अच्छी आदतों को अपना लेंगे ?

नहीं, आप इन्हें अपने जीवन में कभी लागू नहीं करेंगे यदि मैं आप लोगों से कहता हूं कि आप इन्हें अपना कर देखें आपको सचमुच अच्छा फायदा दिखेगा तो आपके मन में इन सब से जुड़े अनेक प्रश्न आएंगे और यह ऐसा पहली बार नहीं है कि आप यह पहली बार करेंगे आपने इस पर कई बार काम किया होगा आपने सोचा होगा कि आप अपने बनाए हुए नियम पर चलेंगे, सही आदतों का पालन करेंगे बुरी आदतों से दूर होंगे लेकिन ऐसा नहीं होता।

आखिर ऐसा क्यों नहीं होता इसका जवाब आप से अच्छा कोई नहीं दे सकता। लेकिन यहां पर मैं आपसे जिन चीजों के बारे में बात करूंगा वह चीजें तभी आपके साथ काम करेंगी। जब आप अपने द्वारा खोजे गए प्रश्नों का जवाब खुद से जानने का प्रयत्न करेंगे।

अच्छी आदत कैसे बनाएं और बुरी आदत कैसे छोड़े ?

अगर मैं आपसे कहूं अच्छी और बुरी आदत है जैसा कुछ नहीं होता सभी आदतें अपनी जगह पर सही है तो शायद आप इस बात से सहमत नहीं हो आपके मन में प्रश्न जरूर आएगा की अच्छी आदतें और बुरी आदतों में अंतर स्पष्ट है बुरी आदतें मतलब असफलता और अच्छी आदतें मतलब सफलता यहां पर आप पूर्ण रूप से सही है।

परंतु हमारे द्वारा बनाई गई जितनी भी आदतें है वह चाहे अच्छी हो या बुरी उनका सीधा असर हमारे जीवन पर पड़ता है और हमारा मस्तिष्क दोनों में अंतर करना चाहे कि कौन सी अच्छी आदत है कौन सी बुरी तो इसे पहचानने में जहां हमेशा असमर्थ रहेगा क्योंकि हमारा मस्तिष्क जानता है कि कोई भी आदत अच्छी और बुरी नहीं होती। आखिर ऐसा क्यों ?

मस्तिष्क क्या जानता है ?

हमारा मस्तिष्क कभी भी कठिन कार्य का चुनाव नहीं करता या हमेशा सरल चीजों को प्राथमिकता पहले देता है और यह भी आपकी आदत का एक हिस्सा है आइए इसे बहुत ही आसान भाषा में समझते हैं ?

दोस्तों हमें लगता है हम जो भी कार्य कर रहे हैं हमारे हिसाब से वह सही है परंतु यदि यह कार्य किसी दूसरे व्यक्ति के जरिए देखा जाए तो वह उसमें छोटी मोटी गलतियों को जरूर ढूंढ निकालेगा और आपको बताएगा या ऐसे नहीं ऐसे करो।

इसी तरह हमारा मस्तिष्क जो भी चीजें सोचता है वह हमारे पास मौजूदा जानकारी का इस्तेमाल करके उसके बारे में अपने विचार प्रस्तुत करता है यदि आप किसी चीज के बारे में बहुत ही अच्छा सोचते हैं और उसे समझते हैं तो ऐसा इसलिए होता है क्योंकि आपने उस चीज को पहले से ही अच्छे से समझा है उसके बारे में अच्छी जानकारी हासिल की है और आप उसके बारे में सही और गलत का अंतर समझते हैं इसलिए आपका मस्तिष्क उस चीज के बारे में अच्छा समझता है

ठीक उसी तरह यह उल्टा है यदि आप किसी चीज या इंसान को पसंद नहीं करते हैं तो आपके पास उस चीज की अच्छी या बुरी दोनों प्रकार की जानकारी हो सकती है यदि आपके पास उस इंसान या चीज की सही जानकारी है आपने उसके बारे में अच्छा सुना है उसे समझा है तो आप उसके लिए अपने विचार सही बनाएंगे और यदि आपने उसके बारे में गलत समझा है या उसके बारे में गलत जानकारी हासिल की है तो आप उसके बारे में अपने बूरे विचार बनाएंगे।

अच्छी आदत कैसे बनाएं मस्तिष्क के विचारों को समझ कर ?

आपने या तो समझ लिया होगा कि आपका मस्तिष्क किस तरह काम करता है या कुछ हद तक उस तरह का है जिस तरह आपका पेट काम करता है जब आपको बहुत ज्यादा भूख लगती है तो आप को भोजन की आवश्यकता पड़ती है ठीक उसी प्रकार जब आप किसी लक्ष्य की ओर बढ़ते हैं तो आपको जानकारी की आवश्यकता पड़ती है आपको अपने मस्तिष्क को मजबूत बनाना पड़ता है ज्यादा से ज्यादा अच्छी जानकारी हासिल करके, नए नए विचारों की गणना करके।

achi aadat kaise bnaye ?
Brain Power

 

वैसे तो हमने आपको मस्तिष्क के विचारों का एक छोटा सा अंश बताया है जिससे आपको सही आदत का चुनाव करने के लिए सही रास्ते का चुनाव करने के लिए आसानी होगी। वरना यह सिर्फ मस्तिष्क के बारे में चर्चा की जाए तो उसके ऊपर बहुत सी किताबे लिख जाएंगे यह इतना विशाल है लेकिन यहां पर आपको सिर्फ इतना समझना है जितना हमने आपको बताया है।

यदि आप अपने विचारों को समझते हैं अपने द्वारा हासिल की गई जानकारी और सही और गलत का अंतर समझकर तो आप अपने मस्तिष्क की विचारों और अपने फैसलों पर और अपनी आदतों पर काबू कर सकते हैं उन्हें किस तरह का रूप देना है या आप अच्छे से समझ सकते हैं।

अच्छी आदत कैसे बनाएं जरूरतों को समझ कर ?

अब जब आपने अच्छी आदत कैसे बनाएं इसके बारे में समझ लिया है कि आप किस तरह काम करता है तो बात आती है किसका निर्माण किस तरीके से किया जाए आप अपने जीवन में सही दिशा की ओर बढ़ कर सफलता हासिल कर सकें।

दोस्तों सबसे पहले समझते हैं अच्छी आदत और बुरी आदत है क्या ?

बुरी आदतें या कुछ इस प्रकार हैं जैसे-

सुबह देर से उठना, रात में देर से सोना, समय पर काम ना पूरा करना, स्मोकिंग करना, ड्रिंक करना फास्ट फूड खाना, देर टीवी देखना, एक्सरसाइज ना करना, किताबी ना पढ़ना, बहुत ज्यादा बोलना आदि। यह सभी बुरी आदतें और अच्छी आदतें जैसे सुबह जल्दी उठना, जल्दी सोना, रोजाना एक्सरसाइज करना रोजाना, मेडिटेशन करना रोजाना अच्छी किताब पढ़ना समय पर सारे काम पूरे करना अपने लक्ष्य की ओर केंद्रित रहना कम बोलना हेल्थी खाना खाना या सभी अच्छी आदतें लेकिन हमारा मस्तिष्क अच्छी आदतों को देख कर सिर्फ प्रेरणा लेता है बल्कि इशारा बुरी आदतों को करने का देता है।

इसलिए होता है क्योंकि हम अपनी जरूरतों को नहीं समझ पाते बुरी आदत है आप पर तब हावी हो जाती हैं जब आप आलस, क्रोध घृणा, नींद और झूठ को अपना लेते हैं जिनके कारण आप बुरी आदतों का शिकार होते हैं और सफलता से पीछे रह जाते हैं।

बुरी आदत कैसे छोड़े ?

1) बुरी आदत आप में मौजूद ही नहीं है बस आपको इसे समझना है आपके अंदर यह दोनों आदतें पहले से ही मौजूद है बस आपको इन दोनों में से एक को अपनाना है।

2) जब आप बुरी आदत का शिकार हो तो आपको उसका परिणाम देखना है यदि आप स्मोकिंग करते हैं तो आपको यह देखना है कि आप अपने जीवन से कितना प्रेम करते हैं आप अपने लोगों से कितना प्रेम करते हैं आपको जीवन ज्यादा लंबा जीना है या नहीं और यदि आप ऐसा करते हैं तो आप को कितना नुकसान हो सकता है आपको इन सब चीजों के बारे में सोचना है।

3) किसी भी आदत को अपनाने से पहले उसका नुकसान और परिणाम दोनों देखना है।

4) अपनी जरूरत को समझना है अपने दायित्व को समझना है कि आप कितने महत्वपूर्ण हैं आपका जन्म कुछ बड़ा करने के लिए हुआ है और आप अपने जीवन को यूं ही व्यर्थ नहीं कर सकते छोटे-मोटे आदतों में फंस कर।

5) बुरी आदत को छोड़ने के लिए आपके पास कोई कारण होना चाहिए कि आप इसके लिए कि यदि आपने इसे अपनाया तो क्यों ? और यदि छोड़ना चाहते हैं तो क्यों ?

अच्छी आदत कैसे बनाएं ?

1) अच्छी आदत बनाने के लिए आपको उसकी महत्वपूर्ण था और उसके परिणाम के बारे में जानना है कि यदि आपने उसे अपनाया तो आपका जीवन कैसे बदल सकता है।

2) अपनी जरूरतों को समझना है कि आप जो आदत अपना रहे हैं वह आपकी जरूरतों को पूरा करने में सक्षम है या नहीं।

3) किसी भी आदत को बनाने से पहले उसे अपने मस्तिष्क में imagination करना है कि यदि आप इसे अपनाते हैं तो आपके जीवन में कैसे चमत्कार होंगे।

4) अपनी वातावरण को बदलना है जो आप चीजें पहले करते थे अब आपको वह नहीं करना है।

5) अच्छे लोगों की बायोग्राफी पढ़नी है, अच्छी किताबें पढ़नी है, अच्छे ब्लॉक पोस्ट पढ़ना है, और सफल लोगों के साथ अच्छे कनेक्शन बनाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *